आनंद का रहस्य – हर्षित किसान 

farmer2

     आदर्श: उचित आचरण 

     उप आदर्श : प्रेम से अपने कर्तव्य का पालन करना, आनंद का रहस्य 

    एक राजा एक बार रूप बदलकर अपने साम्राज्य के सबसे अधिक प्रसन्न व्यक्ति का पता लगाने निकला. 

    सैकड़ों लोगों को मिलने के बाद आखिरकार उसे एक गरीब किसान दिखा जो खेत में हल चलाते हुए आनंदपूर्वक गाना गा रहा था. किसान के चेहरे पर इतनी दीप्तिमान ख़ुशी थी कि राजा का ध्यान उसकी तरफ आकर्षित हुआ.

    राजा किसान से बोला, “प्रिय मित्र, मुझे अपनी ख़ुशी का रहस्य बताओ.”

     किसान बोला, “यह तो बहुत ही सरल है. अपनी कमाई के चौथाई भाग से मैं अपने ऋण का भुगतान करता हूँ; चौथाई भविष्य में निवेश करता हूँ; चौथाई दान-पुण्य में देता हूँ और चौथाई अपने कर्तव्य पर खर्च करता हूँ.”

    किसान की बात सुनकर राजा बिल्कुल चकित था. उसने किसान से और अधिक विवरण देने का अनुरोध किया. 

     “मेरे माता-पिता ने मुझे जीवन रुपी उत्कृष्ट उपहार दिया है और मैं उनके प्रति अथाह कृतज्ञता का ऋणी हूँ. अब मैं उनका पोषण करता हूँ और वृद्धावस्था में उनका ध्यान रखता हूँ. मेरी कमाई का चौथाई हिस्सा इस ऋण के भुगतान पर खर्च होता है.”

      “मेरे बच्चे भविष्य का प्रतीक हैं. अपनी आमदनी का चौथाई मैं उनके भोजन, कपड़े व शिक्षा पर खर्च करता हूँ. यह मेरा भविष्य में निवेश है.”

      “यद्यपि मैं गरीब हूँ परन्तु ऐसे भी लोग हैं जो मुझ से भी अधिक दरिद्र हैं. अपनी क्षमता के अनुसार मैं उनकी सहायता करता हूँ. इस कारण मेरी कमाई का चौथाई दान पर खर्च होता है.” 

“मेरी पत्नी मुझपर भरोसा करती है. मेरा कर्तव्य है कि मैं जीवनभर उससे प्रेम करूँ और उसकी रक्षा करूँ. मेरी आमदनी का चौथाई हिस्सा उसे एक अच्छा घर देने में खर्च होता है.”

farmer3farmer4farmer5farmer6

      सीख:

     वास्तविक ख़ुशी भगवान्, परिवार व दूसरों के प्रति हमारे दायित्व निभाने से मिलती है न कि धन, नाम व कीर्ति के पीछे भागने से.

source: http://www.saibalsanskaar.wordpress.com

      अनुवादक- अर्चना 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s