लुभावनी मुस्कान

mulla1

  आदर्श: उचित आचरण/ प्रेम
 उप आदर्श: मुस्कान, दूसरों की परवाह

अरब के सुल्तान मुल्ला नसरूदीन को बेहद पसंद करते थे. इस कारण सुल्तान अपनी यात्रओं पर मुल्ला को अक्सर साथ ले जाया करते थे. ऐसी ही एक यात्रा के दौरान राजशाही क़ाफ़िला रेगिस्तान के एक छोटे से नगर पहुँचा.

mulla3

अकस्मात ही सुल्तान ने मुल्ला से कहा, “पता नहीं इस छोटे से नगर के लोग मुझे पहचानते भी हैं या नहीं? ऐसा करते हैं- इस क़ाफ़िले को यहीं रोककर नगर में पैदल चलकर प्रवेश करते हैं और देखते हैं कि यहाँ के नागरिक मुझे पहचानते हैं या नहीं.”

सुल्तान की इच्छानुसार वे दोनों घोड़े से नीचे उतरे और धूल से भरे नगर की मुख्य सड़क पर पैदल चलने लगे. सुल्तान को यह देखकर बहुत ही आश्चर्य हुआ कि बहुत से लोग नसरूदीन को देखकर मुस्कुरा रहे थे पर सुल्तान को पूरी तरह से नज़रअंदाज़ कर रहे थे.

लोगों के इस व्यवहार को देखकर क्रुद्ध सुल्तान से अपनी अप्रसन्नता ज़ाहिर करते हुए कहा, “मैं देख रहा हूँ कि यहाँ के वासी तुम्हें जानते पर मुझे तो पहचानते भी नहीं हैं.”mulla5

मुल्ला ने भोलेपन से जवाब दिया, ” मान्यवर, यहाँ के नागरिक मुझे भी नहीं पहचानते हैं.”
“फिर ये सब तुम्हें ही देखकर क्यों मुस्कुरा रहे हैं?” सुल्तान ने पूछा.
“क्योंकि मैं भी उनको देखकर मुस्कुरा रहा था, ” नसरूदीन ने मुस्कुराकर कहा.

mulla4

सीख:
यह साधारण सी कहानी इस बात को बहुत ही सुन्दर ढ़ंग से दर्शाती है कि एक मासूम सी मुस्कान किसी भी सांसारिक आडंबर या प्रभुत्व से कहीं अधिक प्रभावशाली होती है. हम हमारी बुद्धिमत्ता की शक्ति, प्रभावशालता और तर्क करने की क्षमता पर अक्सर विश्वास करते हैं पर अगर हम पाँच मानवीय आदर्शों को “क्रियाशील प्रेम” के रूप में अभिव्यक्त करेंगें तो लगभग हर बार हमें दूसरों के दिल से ही जवाब मिलेगा. “क्रियाशील प्रेम” प्रेम के नन्हें चमत्कार उत्पन्न करने की क्षमता रखता है. कभी-कभी हमारी आत्मा में छिपी ख़ामोश शक्ति एक साधारण मुस्कान के रूप में खिलकर उभरती है.

mulla6

source: http://www.saibalsanskaar.wordpress.com

अनुवादक- अर्चना

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s