नेकी का एक छोटा सा कार्य हज़ारों चेहरों पर मुस्कुराहट ला सकता है

 

   आदर्श : उचित आचरण
  उप आदर्श : दयालुता

दो लड़के एक सड़क पर चल रहे थे जो एक खेत के बीच से निकलती थी. दोनों लड़कों में छोटे वाले लड़के का ध्यान एक व्यक्ति की ओर गया जिसने अपने अच्छे वाले वस्त्र उतार कर एक तरफ रखे हुए थे और अपने खेत में कठिन परिश्रम कर रहा था. उस लड़के ने अपने मित्र की ओर देखकर कहा, “चलो इसके जूते छुपा देते हैं . जब यह अपने खेत से काम करके आएगा silver3तो अपने जूते ढूँढ़ नहीं पाएगा और तब उसके चेहरे के हाव-भाव देखने वाले होंगें! ” इस प्रकार मज़ाक करते हुए दोनों लड़के हँसने लगे.

उसके मित्र ने क्षण भर के लिए सोचा और फिर बोला, “यह व्यक्ति गरीब लगता है. इसके कपड़े तो देखो? ऐसा करते हैं कि उसके दोनों जूतों में चाँदी का एक-एक सिक्का छुपा देते हैं और पास की झाड़ियों में छुपकर उसकी प्रतिक्रिया देखतें हैं.” उसका साथी सहमत हो गया और किसान के जूतों में चाँदी का एक-एक सिक्का छुपाकर दोनों दोस्त झाड़ियों के पीछे छुप गए.silver4 शीघ्र ही थका-मांदा किसान खेत से वापस लौटा. जैसे ही उसने एक जूता पहना उसे तुरंत अपने पाँव के नीचे किसी कठोर वस्तु के होने का अहसास हुआ. जब उसने देखने के लिए जूता उतारा तो उसमें चाँदी का सिक्का देखकर वह अवाक रह गया. सिक्का हाथ में लेकर उसने इधर-उधर देखा पर उसे कोई दिखाई नहीं दिया.silver5 हक्के-बक्के किसान ने जब दूसरा जूता पहना तो उसे उसमें भी सिक्के के होने का अहसास हुआ. दूसरे जूते में भी चाँदी का एक सिक्का देखकर किसान अत्यधिक भावुक हो गया.

स्वयं को वहाँ अकेला समझकर उस किसान ने घुटनो के बल बैठकर भगवान् को मौखिक प्रार्थना अर्पण की. चूँकि दोनों लड़के पास की झाड़ियों में छुपे हुए थे वे किसान की आवाज़ आसानी से सुन पा रहे थे.silver6 उन्होंने गरीब किसान को राहत व आभार के आँसू बहाते देखा. वह अपनी बीमार पत्नी व भूखे बच्चों के बारे में बोल रहा था. किसी अनजान द्वारा इस अकस्मात् सहायता के लिए वह ईश्वर से अपना आभार प्रकट कर रहा था.

कुछ समय बाद दोनों दोस्त अपने छुपने के स्थान से बाहर आये और धीमी गति से घर की ओर चलने लगे. ज़रुरत के समय एक गरीब किसान की सहायता करने के ख़याल से वह अंदर ही अंदर अच्छा, उत्साहित व परिवर्तित महसूस कर रहे थे. दोनों दोस्तों के चेहरों पर हल्की सी मुस्कुराहट थी.

silver2

सीख:

नेकी का एक छोटा सा कार्य भी किसी अन्य के जीवन में अंतर ला सकता है. वह लेने वाले तथा देने वाले, दोनों को ख़ुशी प्रदान करता है. हमें दूसरों के लिए अच्छा करने की हर संभव कोशिश करनी चाहिए.

silver7

source: saibalsanskaar.wordpress.com

अनुवादक- अर्चना

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s