उदार पड़ोसी

 

आदर्श : प्रेम
 उप आदर्श : सहानुभूति, सही कार्य करना

एक समय तुआन नामक एक किसान था जिसके पास छोटी सी ज़मीन थी. वह अपनी ज़मीन पर एक झोपड़ी में अपनी पत्नी व बच्चों के साथ रहता था.farmer तुआन बहुत ही उदार व नेकदिल व्यक्ति था और उसकी ज़मीन पर जो भी फसल उगती थी उसे बेचकर अपनी जीविका कमाता था.

तुआन को दूसरों की मदद करना बहुत अच्छा लगता था. गाँव में जब कोई बीमार पड़ जाता था या जब किसी को किसी चीज़ की बहुत अधिक ज़रुरत होती थी तब तुआन उस व्यक्ति की मदद के लिए अवश्य हाज़िर होता था. गाँव में किसी का देहांत हो जाने पर, तुआन मृत व्यक्ति के परिवारजनों की हर संभव सहायता करता था. अगर कोई रात में बीमार पड़ जाता था तो तुआन गाँव के वैद्य को दवाइयाँ तैयार करने में मदद करता था तथा रोगी की देखभाल करता था. ऐसा प्रतीत होता था कि वह सभी का प्रिय है और उससे कोई भी नफरत नहीं कर सकता है.

परन्तु एक ऐसा व्यक्ति था जो तुआन से दिलो-जान से नफ़रत करता था. वह तुआन का पड़ोसी जुआन था जो तुआन की साथ वाली ज़मीन पर रहता था. जुआन स्वभाव से आलसी था farmer1और अपनी ज़मीन जोतने तथा उसमें फसल उपजाने में बिलकुल भी मेहनत नहीं करता था. अतः प्रतिवर्ष फसल कटाई के समय जुआन को अहसास होता था कि बिक्री के लिए उसकी फसल बहुत कम है. दूसरी ओर, तुआन अपनी पैदावार बेचकर अच्छा मुनाफ़ा कमाता था.

एक वर्ष जुआन अपनी नफरत को और नहीं रोक पाया. तुआन के फसल काटने से कुछ दिन पहले जुआन ने रात के अँधेरे में तुआन की फसल को आग लगा दी.farmer6 तुआन उस समय सो रहा था. परन्तु तुआन के एक अन्य पड़ोसी की सतर्कता के कारण तुआन की फसल का अधिकतर भाग नष्ट होने से बच गया.

जब आग की लपटें बुझाई गईं तब तुआन को समझ में आया कि आग किस दिशा से शुरू हुई थी. अपने प्रति जुआन की दुश्मनी की भावना से तुआन अब तक बिलकुल अनजान था. पर सच जानने के बाद उसने बात को वहीँ छोड़ दिया. उसने निश्चय किया कि अगर जुआन इस नीच करतूत को दोहराएगा तो वह जुआन के खिलाफ कार्यवाही करेगा.

उस वर्ष यद्यपि तुआन अपनी फसल अच्छे दाम पर बेच पाया पर वह ज़्यादा मुनाफ़ा नहीं कमा पाया क्योंकि उसकी बहुत सारी फसल जुआन द्वारा लगाई भयंकर आग में जल चुकी थी. उदास होने के बावजूद उसने इस विषय में किसी से कोई चर्चा नहीं की.

कुछ दिनों के बाद रोने की आवाज़ से तुआन की नींद खुली. जब वह बाहर गया तो उसने जुआन की झोपड़ी के पास भीड़ एकत्रित पाई. farmer3

लोगों से उसे मालूम पड़ा कि जुआन का पुत्र बीमार था और गाँव का farmer4वैद्य उसका इलाज करने में असमर्थ था. तुआन ने झटपट घुड़साल से अपना घोड़ा निकाला और १० मील दूर शहर जाकर एक अधिक अनुभवी डॉक्टर को लेकर आया.
इस डॉक्टर ने जुआन के पुत्र की बीमारी को ठीक पहचानकर उसे बिलकुल सही दवाई दी. शीघ्र ही वह लड़का गहरी नींद में सो गया और तब तुआन डॉक्टर को वापस उसके शहर छोड़ने गया.
इस घटना के एक दिन बाद, जुआन तुआन के घर गया और फूट-फूटकर रोने लगा. उसने अपने सारे अपराध स्वीकार किए पर उसे बहुत आश्चर्य हुआ जब तुआन ने उसे बताया कि उसे इन अपराधों के बारे में पहले से ही मालूम था.
“तुम्हें मालूम था कि मैंने तुम्हारी फसल को आग लगाई थी? और फिर भी तुम मेरे बेटे के लिए डॉक्टर को लाने गए?” ,हैरान जुआन ने पूछा.

तुआन ने सर हिलाया और कहा, “मैंने वही किया जो मुझे सही लगा. केवल इसलिए कि तुमने मेरे साथ गलत किया था, मैं तुम्हारे साथ गलत नहीं कर सकता था.”
जुआन खड़ा हुआ और उसने तुआन को गले से लगा लिया. यह दृश्य देखकर वहाँ उपस्थित सभी की आँखों में पानी आ गया.farmer8

उस दिन से जुआन ने स्वयं को पूरी तरह से बदल लिया. जब लोग उससे पूछते थे वह कैसे इतना बदल गया है तो वह जवाब में केवल इतना ही कहता था, “तुआन की अच्छाई व प्यार ने मुझमें इतना परिवर्तन लाया है.”

 

सीख:

अपने मित्रों के प्रति विनम्र रहें. अपने दुश्मनों के प्रति और अधिक विनम्र रहें. प्रायः ऐसा लगता है कि ऐसा कहना आसान है पर करना कठिन है. एक दोस्त से प्रेम करना हमेशा बहुत आसान होता है परन्तु अपने प्रति अच्छा व्यवहार नहीं करने वाले से प्रेम करना बहुत मुश्किल होता है. परन्तु अगर हम इस बात पर गौर करेंगें तो पायेंगें कि जब हम अपने प्रति अच्छा व्यवहार न करने वाले व्यक्ति की मदद करते हैं तो दूसरे व्यक्ति में बदलाव से पहले हम अपने भीतर परिवर्तन की प्रक्रिया शुरू करते हैं. अगर हम द्वेषपूर्ण रहने के बजाय सही कार्य करने पर अटल रहेंगें तो हम भीतर से खुश रहेंगें. इस आचरण का विकास करने के लिए बहुत ताकत की आवयश्कता है पर एक बार इस विशेषता को हासिल कर लेने पर हम सदा खुश रहेंगें और अपने आसपास सदा प्रेम व आनंद फैलायेंगें. हम स्वयं को सदा आनंद से घिरा पायेंगें.

source: saibalsanskaar.wordpress.com
अनुवादक- अर्चना

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s