अच्छा करो और दूसरों की मदद करो

          आदर्श : उचित आचरण

     उप आदर्श : सबसे प्रेम करो और सबकी सेवा करो

गौतम बुद्ध के दिनों के दौरान एक युवक बुरी आदतों का आदी था. वह लोगों से रूखा व्यवहार करता था और अपनी असामाजिक गतिविधयों के कारण अपराधी बन रहा था. उसकी माँ ने उसे सामान्य जीवन में वापस लाने की कोशिश की पर सफल नहीं हो पाईं.buddha1 अंततः उन्होंने अपने बेटे को “गौतम बुद्ध'” के पास ले जाकर उनका आशीर्वाद माँगने का निश्चय किया. बहुत मुश्किल से वह अपने बेटे को “बुद्ध” से मिलने के लिए राजी कर पाईं. दोनों जंगल में गए जहाँ बुद्ध पेड़ के नीचे बैठकर तपस्या कर रहे थे. budhha2माँ बुद्ध के चरणों में गिरकर रोने लगीं.

बुद्ध ने उनसे पूछा, “तुम क्यों रो रही हो?”

माँ ने कहा कि मेरा बेटा सारे बुरी काम कर रहा है और आजकल अपराधी बन रहा है. कृपया कुछ करिये. बुद्ध ने उनके पुत्र की ओर देखा और कहा, “अब बहुत देर हो चुकी है. यह युवक एक दिन में मरने वाला है.”budhha3 ऐसा कहकर बुद्ध वहाँ से चले गए. माँ और बेटा, दोनों, यह सुनकर स्तंभित थे और उदास मन से दोनों अपने घर लौट आए. मौत के डर से दोनों रातभर सो नहीं पाए. २३ घंटे बीत गए और आखिरी घंटे में बुद्ध उनके इलाके में आए और उनके घर भी आए.

बुद्ध ने पुत्र से पूछा, “इन २३ घंटों में क्या तुम किसी धोखेबाज़ी, अपराध या चोरी में शामिल हुए?”
पुत्र ने कहा, “नहीं.”
“क्या तुमने झूठ बोला?” बेटे ने कहा, “नहीं.”
बुद्ध ने पूछा, “फिर तुमने इन २३ घंटों में क्या किया?”
पुत्र ने उत्तर दिया, “चूँकि मौत मेरे बहुत निकट पहुँच रही थी, मैं अबतक के अपने अपराधों पर पश्चात्ताप कर रहा था. budhha4मुझे समझ में आया कि मैंने कैसे अपना बेशकीमती जीवन व्यर्थ कर दिया. पर यह समझने में अब बहुत देर हो चुकी है.”

बुद्ध ने कहा, “चिंता मत करो. तुम्हारी मृत्यु अभी नहीं होगी. वह टल गई है. अपनी शेष ज़िन्दगी सार्थक ढ़ंग से बिताओ और दूसरों के प्रति उदार रहो.”

               सीख:

हम सब की मृत्यु निश्चित है. वह किसी भी क्षण, किसी भी रूप और बिना किसी कारण आ सकती है. आइए अपना जीवन मानवीय आदर्शों के साथ अच्छे कामों तथा दूसरों की मदद करते हुए बिताएं. ताकि हमारी मृत्यु के बाद भी लोग हमें याद रखेंगें.

http://www.saibalsanskaar.wordpress.com

अनुवादक – अर्चना

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s