राह दिखाना

horse

            आदर्श : प्रेम
       उप आदर्श : देख रेख, सहानुभूति

मेरे छज्जे के सामने की सड़क के पार एक मैदान है जहाँ अक्सर मैं दो घोड़ों को घास चरते देखता हूँ. दूर से दोनों घोड़े एक समान दिखते हैं पर अगर आप पास जायेंगें तो देखेंगें कि उनमें से एक अंधा है. उसके मालिक ने फिर भी उसे त्यागा नहीं बल्कि उसके रहने के लिए एक आरामदायक अस्तबल बनाया जो कि काफ़ी आश्चर्यजनक है.

अगर आप पास खड़े होकर सुनेंगें तो आप एक घोड़े से घंटियों की आवाज़ आती सुनेंगें. ये तांबे के रंग की नन्ही घंटियाँ उसकी लगाम से लगाई हुईं हैं. horse1 घंटियों की खनखनाहट उसके अंधे दोस्त को बतातीं हैं कि वह कहाँ है ताकि वह अंधा घोड़ा उसका पीछा कर सके. जैसे आप खड़े होकर दोनों दोस्तों को देखेंगें तो पायेंगें कि घंटी वाला घोड़ा अंधे घोड़े का हमेशा ध्यान रखता है. अंधा घोड़ा भी सदा सतर्क रहता है और इस विश्वास में कि उसका दोस्त उसको गुमराह नहीं करेगा, वह घंटी की आवाज़ की दिशा में ही जाता है. हर शाम जब घंटियों वाला घोड़ा अस्तबल की पनाह में लौटता है तो समय-समय पर पीछे मुड़कर देखता है कि उसका दोस्त घंटियों की आवाज़ सुनने के लिए बहुत दूर तो नहीं है!

इन घोड़ों के मालिक के समान, सिर्फ इसलिए कि हम सम्पूर्ण नहीं हैं, भगवान हमारा त्याग नहीं करते हैं. वह हमपर नज़र रखतें हैं और ज़रुरत पड़ने पर हमारी मदद के लिए दूसरों को हमारी ज़िन्दगी में भी लेकर आतें हैं. कभी-कभी हम अंधें घोड़े होते हैं और उन लोगों की घंटियों की खनखनाहट से प्रभावित होते हैं जो भगवान के अस्तित्व को समझते हैं. कई परिस्थितियों में हम मार्गदर्शक घोड़े के समान होते हैं, दूसरों को राह ढूँढ़ने में उनकी मदद करते हैं.

        सीख:

हम कभी अकेले नहीं होते हैं. भगवान सदा हमारा ध्यान रखते हैं. आवश्यकता के समय ईश्वर सही व्यक्ति को हमारी सहायता तथा मार्गदर्शन के लिए भेजते हैं. इसी प्रकार दूसरों की मदद के लिए, वह हमें अपने साधन के रूप में प्रयोग कर सकतें हैं. अतः हमें ज़रूरतमंद लोगों की सहायता करने के अवसरों की ताक में रहना चाहिए.

http:://www.saibalsanskaar.wordpress.com

translation by- अर्चना

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s