दस्तूरजी-उप आदर्श- ईमानदारी-आदर्श-सत्य

dasturji picture

एक समय एक दस्तूरजी(पारसी पुजारी) थे. मुंबई के एक पारसी मंदिर में काम करने के लिए वह मुंबई आकर रहने लगे. मुंबई पहुँचने के कुछ हफ्ते बाद, उन्हें अपने घर से केंद्र के लिए बस में यात्रा करने का अवसर मिला. बस में बैठने के बाद उन्होंने जाना कि परिचालक ने गलती से उन्हें छुट्टे में १ रुपया ज्यादा दे दिया था. वे विचार करने लगे और उन्होंने अपने आप में सोचा, “मुझे १ रुपया वापस कर देना चाहिए. इसे अपने पास रखना गलत होगा.” फिर उन्होंने सोचा, “अरे! छोड़ो, १ रुपया ही तो है. इतने से पैसे के लिए कौन परेशान होगा? ऐसे भी यह बस कंपनी वाले काफ़ी पैसे कमाते हैं. एक रूपया कम पड़ने से उनको कुछ फरक नहीं पड़ेगा. इसे चुपचाप ‘ईश्वर का इनाम ‘ मानकर स्वीकार कर लेता हूँ. दस्तूरजी चुप रहे और शहर के नज़ारे का आनंद लेते रहे.”

जब उनका ठहराव आया तो वह द्वार पर क्षणभर के लिए रुके. फिर कुछ सोचते हुए परिचालक की ओर मुड़े और उसे वह रुपया देते हुए बोले, ” ये लो, तुमने मुझे जयादा छुट्टा दिया था. ”

परिचालक ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया, “आप ही शहर के नए दस्तूरजी है ना?”

उन्होंने जवाब दिया, “हाँ. ”

“आजकल आपकी काफी प्रशंसा सुनने में आ रही थी. मैं केवल देखना चाहता था कि आप अतिरिक्त छुट्टे से क्या करेंगे. ”

परिचालक के शब्दों ने दस्तूरजी को हिला कर रख दिया. बस से उतरते ही निकट के बिजली के खम्बे का सहारा लेते हुए स्वयं में फुफुसाए, “हे भगवान! मैंने एक रूपए के लिए अपना ज़मीर बेच ही दिया था. ”

सीख :

इसलिए मित्रों सतर्क रहें ! हमारा मन खेल खेलता है. सावधान रहें.

अपने विचारों पर ध्यान दें , वे शब्द बनते हैं.

अपने शब्दों पर ध्यान दें ,  वे कर्म बनते हैं.

अपने कर्मों पर ध्यान दें, वे आदतें बनते हैं.

अपनी आदतों  पर ध्यान दें, वे चरित्र बनते हैं.

अपने चरित्र पर ध्यान दें, वह किस्मत बनता है.

, जब भी हमारा मन प्रतिकूल या गलत विचारों की ओर जाता है, हमें उस पर कड़ा नियंत्रण रखना चाहिए. गलत काम करने के बाद, हमारा अपराध हमें शान्ति से नहीं रहने देगा.

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s